July 16, 2019
Knowledge

अभिभावकों के नाम खुला खत

वैसे तो हर अभिभावक ये दावा करते ही है की उनसे बेहतर उनके बच्चों को कोई नहीं समझता लेकिन यह 100% सही नहीं है चाहे तो खंगाल कर देख ले हर कोचिंग के बाहर बेमन से पढ़ रहे बच्चो की लंबी चौड़ी संख्या आपको मिल जाएगी ।

समझने की कोशिश कीजिये बच्चे कोई उपकरण नहीं है की शर्मा जी के बेटे ने जैसा किया वैसा ही गुप्ता जी का भी करेगा हम बच्चों को स्मार्ट बच्चों की जगह कहीं स्मार्ट फोन तो नहीं समझने लग गए ।

बचपन मे आप ही कहते थे ना अपना बेटा राजकुमार है या बेटी राजकुमारी तो जरा बताइये किसी भी राज कुमार या राजकुमारी की तुलना वाजिब है ? जब आप अक्सर अपने बच्चो को यह बताते है की आपके किसी रिश्तेदार या मित्र के बच्चों ने फलां परीक्षा मे टॉप किया या फलां कंपनी मे इतना बड़ा पैकेज मिला तब आपको पता है बच्चों के मन मे क्या बढ़ता है आपके अनुसार कॉम्पटिशन की भावना लेकिन मेरे अनुसार सिर्फ हीन भावना उससे एक बार जरा खुले दिल से कहिए की बेटा उनके बेटे ने IIT मे टॉप मे किया बता तू किसमे टॉप करना चाहता तो शायद जो जवाब आएगा वो आपको यह एहसास दिला देगा की आपके बच्चो को लेकर आपकी सोच सही थी या गलत अधिकांश की सही होगी पर जिनकी गलत है उन्हे वक्त मिल जाएगा समझने ओर सोचने के लिए । जनाब उनके बेटे ने IIT टॉप इसलिए किया क्योंकि उनके बच्चे की रुचि थी विज्ञान विषय मे जबर्दस्ती यदि वे उसे भी आईएएस के Exam मे बैठा देते तो शायद टॉप न कर पाता ।

मैं यह नहीं कहता आपके बच्चे ने जो कोर्स चुना है या जो आपने उसे सुझाव दिया है वो शत प्रतिशत गलत हो लेकिन यकीन मानिए अगर उसमे उसकी रुचि नहीं तो स्थिर सफलता थोड़ी मुश्किल है ओर फिर ऐसे मे आप अक्सर उसके साथियों, दोस्तों या मिलने वालों की संगत का ठीकरा फोड़ कर कन्नी काट लेते है, एक बार जरा अपने मन से पूछिए क्या आपकी पसंद का कोर्स जो की आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा का विषय है कहीं उसके लिए भी यही कारण तो नहीं की वो मन मर के वो पढे जा रहा है जो आप चाहते थे?

शिक्षा सफलता के लिए जरूरी है इसे अपनी आन बान शान से कतई ना जोड़ें ।

एक बार जरा गौर से जरूर सोचिएगा

कहीं आपने अपने घर की दीवार मे बच्चे के कॅरियर रूपी ऑप्शन को काँच को दीवार तो नहीं बना लिया ?

कहीं उस दीवार को बचाने के चक्कर मे आपके बच्चों ने मन मारना तो नहीं सीख लिया ?

महोदय जी कोई कॅरियर ऑप्शन खराब नहीं होता बशर्ते उसमे बच्चे की रुचि हो !

Article By Varun Surana

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *