February 25, 2024
Blog

उदयपुर के 2 युवाओं ने लहराया साइक्लिंग में परचम, 30 दिनों में 5000+ किलोमीटर की दूरी तय की|

उदयपुर के 2 युवाओं ने लहराया साइक्लिंग में परचम, कायम किया 30 दिन में 5000 से अधिक किलोमीटर्स साइक्लिंग का रिकॉर्ड उदयपुर। ये एक सत्यालंग फिटनेस के लिए और पर्यावरण के लिए बहुत फायदेमंद होती है लेकिन कई बार इसी साइकिलंग से कई ऐसे रिकार्ड पर जाते हैं जिनके बारे में सोच कर हैरानी होती है। उदयपुर के युवाओं आशोष वित्तीय और गौरव पशिष्ठ से एक चैलेन्ज के तहत जून माह में 30 दिन में 5000 किलोमीटर्स से अधिक साइकिलंग कर के रिकॉर्ड कायम कर दिया है जिसके बारे में अधिकांश साइक्लिस्ट्स सोध नहीं पाते हैं, इस चैलेन्ज में आशीष और गौरव ने 30 दिन में लगभग 180 किमी प्रतिदिन के एयरेंज में 5000 किलोमीटर्स की दूरी अलग अलग तय की है, दोनों ने ये साईकिल राईड्स एक साथ एक दूसरे को मोटिवेट करते हुए को और इसमें कई व्यक्तिगत कीर्तिमान बनाये। 1 जून से शुरू हुए इस चैलेन्ज में आशीष और गौरव ने एक बार 300 किलोमीटर्स को राइड उदयपुर भीलवा-उदयपुर कम्प्लीट की, उसके अलावा एक बार 200 किलोमीटर्स की राइट उदयपुर-गोमतो चौराहा- उदयपुर साथ में कम्प्लीट की, अगर साइक्लिंग रोज की बात की जाए तो आशीष ने जून माह के 30 दिन में 36 सेंचुरी राईड्स (100 किमी या उससे अधिक) और गौरव ने इसी दौरान 35 सेंचुरी राईड्स (100 किमी या उससे अधिक) कम्प्लीट को, जून की तपती धूप एवं गर्मी, विपरीत हवाएं और चक्रवात विपरजॉय भी इन दोनों की हिम्मत को नहीं डिगा सका। आशीष और गौरव ने इस रिकॉर्ड को कायम करने के क्रम में क्रमश: 8 एवं 9.5. किसी वजह कम किया । रिकॉर्ड कायम करने वाले आशीष चित्तौड़ा (5300 किमी.) ने बताया कि शुरुआत में 1500 किलोमीटर करने के बाद हिम्मत जवाब देने लगी थी मगर जब चक्रवात विपरजॉय को भयानक बारिश में 200 किलोमीटर कम्प्लीट किये तब मन को ये विश्वास हो गया कि अब तो ये राइड लम्बी चलने वाली है और अब रुकना नहीं है|

यही आशीष के साथ एवं 5002 किमी कम्प्लीट करने वाले गौरव वशिष्ठ ने बताया कि शुरुआत में तो इस रिकॉर्ड के बारे में सोचा भी नहीं था लेकिन जब 3500 किमी कम्प्लीट किया उसके बाद आरजे अंशुमान में हम दोनों को बताया कि 5000 का आंकड़ा अब तक अचीव नहीं हुआ हैए अंशुमान ने हम दोनों को ये आंकड़ा अचीव करने का चैलेन्ज दिया। इसे पूरा करने के लिए दोनों साइक्लिस्ट्स ने कई दिन तो सुबह और शाम दोनों समय सेंचुरी राईड्स को इन राईड्स के दौरान इन दोनों ने उदयपुर, चित्तौड़, भीलवाड़ा, गोमती चौराहा, मावली, नाथद्वारा और आबू हाइवे पर इंसवाल एवं गोगुन्दा तक कई बार और विपरीत स्थितियों में साइक्लिंग की । इस दौरान कई बार पंचर होने, ट्यूब फटने, साइक्लिंग का क्रॅक सेट डैमेज होने जैसी समस्याओं के बावजूद एवं ऑफ्सि एवं व्यवसाय को मैनेज करते हुए भी इन दोनों का हौसला नहीं डिगा एवं उन्होंने साइक्लिंग कम्युनिटी में उदयपुर का नाम रौशन किया। इस रिकॉर्ड को कायम करने के दौरान जून माह में स्ट्रावा एप्लिकेशन को इंडिया रैंकिंग में आशीष और गौरव ने इंडिया लेवल पर क्रमशः नंबर 1 और नंबर 2 पोज़िशन, वहीं वर्ल्ड रैंकिंग में क्रमश: 20वांएवं 21वां स्थान हासिल किया। दोनों ने इस रिकॉर्ड को अचीव करने के लिए अपने माता- पिता, अपने शुभचिंतकों एवं क्लब के साथी साइक्लिस्ट्स का धन्यवाद दिया है. 55 साल की महिला संतोष वशिष्ठ ने जून माह में 1000 किलोमीटर्स की दौड़ पूरी करने का रिकॉर्ड बनाया 55 वर्षीया श्रीमती संतोष वशिष्ठ ने जून माह में 30 दिन में लगभग 33 किलोमीटर्स प्रतिदिन की औसत से कुल 1000 किलोमीटर तक का अनोखा रिकॉर्ड रनिंग के जरिये बनाया जिसके लिए उन्होनें जून की तपती धूप और चक्रवात विपरजॉय की वजह से बिगड़े मौसम की परवाह न करते हुए लगातार रनिंग की। इस दौरान उन्होंने लगभग पूरे उदयपुर शहर, बड़ी लेक और खासतौर पर रानी रोड पर काफी अधिक रनिंग करते हुए लोगों को मोटिवेट किया। इस चैलेन्ज के दौरान रनिंग की कैटेगरी में श्रीमती संतोष वशिष्ठ नंबर 1 पर रही एवं लगभग 7 किलो वजन कम किया। श्रीमती संतोष वशिष्ठ ने इस अचीवमेंट के लिए अपने परिवार, स्पेशली साइक्लिंग में 5000 किमी का रिकॉर्ड बनाने वाले पुत्र गौरव वशिष्ठ एवं समस्त मित्रों एवं क्लब की महिलाओं एवं पुरुषों का धन्यवाद दिया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *