November 15, 2019
Business

नेटवर्क मार्केटिंग : सच में क्या है?

भारत में आज भी जैसे ही किसी के सामने इस तरह के बिज़नेस के बारे में बात करते है..भौंहे तन जाती है..अधिकांश लोग इसे बेवकूफ बनाने का रास्ता बताते है..पैसा ऐंठने का तरीका बताते है..लोगों के सपनों से खेलने का तरीका बताते है..बेरोजगारों का काम बताते है..ऐसा लगता है जैसे बात छेड़ कर कोई गुनाह कर दिया…

दोस्तों आपको आश्चर्य हो रहा होगा..कि ये आज के बदलते परिवेश में ये बिल्कुल ही सामान्य बात है..और इसके जिम्मेदार अधिकांश वो ही लोग है जो इस बिज़नेस को कर रहे है..या करने का प्रयास कर रहे है..क्योंकि इनमें से अधिकांश लोग इसको झटपट अमीर बनने का रास्ता मानते है..बिना पैसे का बिजनेस मानते है..कुछ करने से ज्यादा अपने आप कुछ बड़ा हो जाने का आसान तरकीब समझते है..और कुछ ऐसे ही लोगों को भी समझाते है…या कुछ ऐसी कंपनियां है जो नेटवर्क मार्केटिंग की आड़ में मल्टीलेवल मार्केटिंग का अवैध प्लान चलाती है..और चंद लोगों के साथ मिलकर बहुत सारे लोगों का पैसा ऐंठने का प्रयास करती है। और अक्सर ऐसी कोई ना कोई दुर्घटना का शिकार आम आदमी हो जाता है..इसलिए सभी वैध कंपनियों के आग्रह पर सरकार ने इस इंडस्ट्री के लिए क़ानून बना दिये है लेकिन आज भी कई

लोग सबको एक ही तराजू में रख कर देखते  है और गलतफहमी का शिकार बने रहते है।

मैं भी पिछले कई सालों से इस इंडस्ट्री से एक बहुत ही अच्छी  विश्वयापी कंपनी से जुड़ा हुआ हूँ और सक्रियता से इसे परिवार और  के साथ मिलकर इस व्यवसाय भी रहा हूँ..और आपको आश्चर्य होगा कि जब तक मैं इस जीवन की दिशा बदल देने वाली इंडस्ट्री से पुरी तरह वाकिफ नहीं था तो मेरी सोच भी बिल्कुल ऐसी ही थी जैसी मैंने ऊपर लिखी है, लेकिन जब इसको थोड़ा अध्ययन किया, थोड़ा काम किया, सीखा फिर किया…फिर सीखा तो कुछ अतिमहत्त्वपूर्ण बाते जानने सीखने को मिली जो मैं आज इस लेख के माध्यम से आप सबके साथ अपने अनुभव साझा कर रहा हूँ।

# 1.सभी के लिए समान और अपार अवसर:

आज कि भागमभाग जिंदगी में 9 वी 10वी कक्षा में  पढ़ने वाले बच्चे से पूछिए कि तुम्हे किस तरह का कैरियर बनाना है तो अधिकांश बच्चे शायद सही जवाब नहीं दे पायेंगे या असमंजस की स्थिति में…लेकिन ये विडंबना है कि उसी नाजुक समय में बच्चों को अपना जीवन किस दिशा में ले जाना है..ये तय करना होता है और उसी के आधार पर अपनी पढ़ाई की प्राथमिकताएं तय करनी होती है..और इसी कारण से शायद अधिकांश बच्चे जब पढ़ाई पूरी करके निकलते है तो वो ये नहीं समझ पाते है कि मैंने ये पढ़ाई क्यों की..मैंने वो subject क्यों नहीं चुना या मैं इसकी जगह ये करता तो शायद ज्यादा अच्छा रहता आदि…लेकिन समय को पीछे ले जाना संभव नहीं..अंततः समझौता होता है कैरियर चुनाव में, परंतु

जब बात आती है नेटवर्क मार्केटिंग में कैरियर बनाने की..तो यहाँ सिर्फ “ये बात मायने रखती है कि आप कहाँ जाना चाहते है..ये नहीं कि आप कहाँ से आये है”…यहाँ हर उम्र, हर बैकग्राउंड, स्त्री पुरुष, नौकरी पेशा, हॉउस वाइफ सबके लिए एक समान अवसर उपलब्ध है..और ये बिज़नेस किसी एक गाँव शहर या देश में सीमित नहीं रखता..आप जहाँ चाहे जैसे चाहे इसको बढ़ा सकते है।

#2. व्यवहारिक और व्यापारिक शिक्षा एक साथ

इस बिज़नेस में जब कोई व्यक्ति सीखना शुरू करता है और काम करना शुरू करता है तो वो व्यवहारिक शिक्षा की महत्ता को समझ पाता है..इंसानियत, धैर्य, नारी सम्मान, सकारात्मक सोच, अमीरी गरीबी , ईमानदारी , स्टेज पर बोलना, लोगों से बात करना , अपने परिवार में कैसे रहना , पति पत्नी का रिश्ता आदि कई सारे व्यवहारिक पहलुओं पर अनुभव ग्रहण करता हुआ सीखता है, साथ ही साथ स्वयं के और दूसरे के पैसे के महत्व और उपयोग को समझने लगता है, उधार और नकद  का फर्क बहुत अच्छे से समझने लगता है..बिज़नेस में टीम भावना , टीम को सफल करने की भावना, सक्रिय आमदनी , निष्क्रिय आमदनी, अल्पअवधि लाभ, दीर्घ अवधि लाभ, आदि कई व्यावसायिक पहलुओं पर ना सिर्फ समझ बनाता है..बल्कि स्वयं भी उन्नति करता है और दूसरों को भी सहायता करता है।

#3. कम प्रारंभिक निवेश और आर्थिक स्वतंत्रता:

इस तरह के बिज़नेस अधिकांश रूप से घर के उपयोग की वस्तुएं खरीदने से शुरू होते है..फिर कंपनियां उन उत्पादों का उपयोग संबंधित जानकारी मुफ्त में ट्रेनिंग , वेबसाइट, ईलर्निंग ऐप आदि के माध्यम से सिखाती है तो व्यक्ति विशेष जो कि कम पैसे की वजह से अपना काम शुरू नहीं कर पा रहा है उसको बड़ा बिज़नेस बनाने का अवसर मिल जाता है , इसीलिए इस तरह के बिजनेस अक्सर घर की महिलाएं शुरू करती है और बाद में बिज़नेस के अवसर को पहचान कर सभी लोग शामिल हो जाते है और एक होम टीम बनने लगती है..दो से पाँच साल के समय में यदि सही कंपनी के साथ मिलकर सही नेटवर्क का निर्माण किया जाय तो आप एक ऐसी आय प्राप्त करते है जो पुरी टीम के द्वारा किये गए टर्नओवर के आधार पर मिलती है ना कि सिर्फ आपके अपने किये गए काम के आधार पर..और इस तरह से थोड़े समय तक पुरी तरह सक्रिय काम करके आप स्थायी निष्क्रिय आमदनी के धनी बनते है..और इसीलिए सभी तरह के वर्ग के लोगों के लिए ये व्यवसाय एक बेहतरीन अवसर बनने लगा है आजकल क्योंकि ये व्यवसाय एक निश्चित मानक के बाद आर्थिक स्वतंत्रता का अवसर प्रदान करता है, उदाहरण स्वरूप विगत 20 वर्षों में भारत में और पुरे विश्व में ऐसे अनगिनत उदाहरण है जो अपनी दूरदर्शिता की वजह से इस व्यवसाय में शामिल हुए , 2 से 5 साल तक अच्छा काम किया और आज आर्थिक स्वतंत्रता को हासिल कर  चुके है, फिर चाहे वो स्टूडेंट हो, या डॉक्टर हो या इंजीनियर हो , या वकील हो, या व्यवसायी हो , या गृहिणी हो, या चार्टर्ड अकाउंटेंट हो या कोई और पेशेवर व्यक्तित्व हो..आज सब तरह के वर्ग के लोग इस अवसर को आजमा रहे है।

#4. बेहतरीन उत्पाद और जोखिमरहित व्यवसाय

इस बिज़नेस के अधिकांश उत्पाद घर के काम या व्यक्तिगत उपयोग (FMCG) श्रेणी के होते है या हैल्थ सप्पलीमेंट या ब्यूटी प्रोडक्ट्स होते है और एक तय समय सीमा में धन वापसी अथवा संतुष्टि की गारंटी के साथ आते है, और टीम में शामिल होने वाला प्रत्येक व्यक्ति अपना लेन देन सीधा कंपनी से करता है इसलिए किसी भी तरह की धनहानि का जोखिम नहीं होता है..और उत्पादों की गुणवत्ता विश्वस्तरीय होती है..तो आप अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद उपयोग लेते है…वो भी मानसिक संतुष्टि के साथ घर बैठे ख़रीद सकते है।

#5 समय का बहुगुणन (Time Compounding)

ये इस तरह के व्यवसाय का सबसे अहम पहलु है…आज तक जितने भी बड़े बड़े बिज़नेस हुए है, उदाहरण स्वरूप ओला, उबेर, जोमैटो, स्विगी, रिलायंस फ्रेश, या ऐसे ही कई अन्य नाम जिसमें फ्रेंचाइजी सिस्टम लागू होता है..उन सब में चाहे कर्मचारियों के माध्यम से हो या वितरण केंद्रों के माध्यम से हो या उत्पादों की श्रेणियों के माध्यम से हो,  कहीं ना कहींTime Compounding और नेटवर्क की ताकत की वजह से ही ये सारे बिज़नेस बड़े बने है, फेसबुक से बेहतर उदाहरण क्या हो सकता है नेटवर्क का…

और भारत में इस नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय या इंडस्ट्री का इतिहास मात्र 20 साल पुराना है और विश्व में ये इंडस्ट्री 60 साल से कार्यरत है…लेकिन इस बहुगुणन की वजह से ही विश्व स्तर पर समय समय पर सभी बड़े बड़े दिग्गजों और वित्तीय विशेषज्ञों ने नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय की प्रसंशा की है, जिसमें बिल गेट्स, डोनाल्ड …और अब तो भारत में भी इस व्यवसाय से संबंधित कानून बन चुके है..जिससे कि एक आम आदमी को सही व्यावसायिक अवसर मिल सके और वो भी अपने बड़े सपने साकार कर सके।

तो दोस्तों, ये मैंने अपने व्यक्तिगत अनुभव आपके साथ साझा किए..बाते तो बहुत है लेकिन..यदि आप इस नए उभरते हुए बिजनेस अवसर को अपने जीवन में अपनाना चाहते है तो इस सुअवसर प्रदान करने वाली इंडस्ट्री में स्वागत है आपका..अभी भारत में ये इंडस्ट्री अपने शैशव काल से बाहर निकली है , अभी आने वाले 5 से 10 सालों में ऐसे बहुत सारे उदाहरण देखने को मिलेंगे जहाँ जिंदगियां बदलेगी इस अद्भुत बिज़नेस अवसर से…क्योंकि ये मंदी की मार झेलती बाज़ार व्यवस्था, ये खाली होते हुए शॉपिंग मॉल, ये ऑनलाइन शॉपिंग में गुणवत्ता से डरे हुए लोग…ये सब साफ साफ संकेत है कि इस देश में अब नेटवर्क मार्केटिंग या डायरेक्ट सेलिंग अपनी दस्तक दे चुका है और दूरदर्शी लोगों ने और इस देश की सरकार ने अपने दरवाजे इस अद्भुत व्यावसायिक अवसर के लिए खोल दिये है, अब बारी है आपकी और आपके सपनों की जिंदगी को एक नया मुकाम देने की।

विशेष नोट :

इस लेख में मैंने संपूर्ण नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री के बारे में लिखा है , किसी कंपनी विशेष के बारे में नहीं, अतः किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को join करने से पहले निम्न बिंदुओं पर अवश्य ध्यान देवें

कंपनी IDSA (इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन) से रजिस्टर्ड है या नहीं?

कंपनी के प्लान में उत्पाद की बिक्री के आधार पर आय होनी चाहिए ना कि लोगों की भर्ती के आधार पर

कंपनी में उत्पादों पर तय समय में धन वापसी की वारंटी है या नहीं?

कंपनी के उत्पाद या तो स्वयं के बनाये हुए हो, या मार्केटिंग कंपनी के रूप में प्रत्येक उत्पाद पर कंपनी का नाम अंकित हो…ऐसा नहीं हो कि उत्पाद किसी और कंपनी के और प्लान किसी और कंपनी का..

बिजनेस को जॉइन करने हेतु किसी भी तरह का कोई शुल्क नहीं लगना चाहिए, ना ही प्रतिमाह की कोई न्यूनतम या अधिकतम उत्पाद ख़रीदने की बाध्यता हो।

चाहे नेटवर्क बने या ना बने प्रत्येक डायरेक्ट सेलर को उत्पाद खरीदने और मार्केट में ग्राहकों को बेचने की स्वतंत्रता हो।

कंपनी में एक व्यक्ति की एक से ज्यादा बार जोइनिंग नही होनी चाहिए, ना ही एक से ज्यादा जोइनिंग करने का प्रलोभन होना चाहिए।

कंपनी का सेल्स और मार्केटिंग प्लान भारत सरकार से मान्यता प्राप्त होना चाहिए।

कंपनी का जो भी सेल्स और मार्केटिंग प्लान है उसकी मुख्य आय व्यक्ति के बैंक खाते में आनी चाहिए, ना कि अगली खरीद के कूपन के रूप में या किसी अन्य गिफ्ट के रूप में

डायरेक्ट सेलर जब चाहे तब कंपनी को सुचित करके अपनी रजिस्टर्ड आई डी से मुक्त हो सकता है।

प्रवीण कुमार जैन

9829116044

campraveenpriya@gmail.com

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *