February 7, 2023
Guest Post Uncategorized

हिन्दू धर्म में सुपारी का महत्त्व

सुपारी कहने को एक छोटी सी चीज है लेकिन इसका महत्व छोटा नहीं है वैसे पूरी दुनिया में उत्पादित होने वाली सुपारी का 50% उत्पादन केवल भारत कर लेता है लेकिन फिर भी सुपारी मूलतः भारत की नहीं है यह भारत में फिलिपिंस या मलेशिया से आई है।

खैर पूरे भारत के हर प्रांत में सुपारी का अपना अलग-अलग महत्व है और अलग- अलग नाम है।

उत्तर – पूर्वी भारत में यदि आप किसी घर के अतिथि बनकर जाओ तो सबसे पहले सुपारी खिलाकर आपका स्वागत किया जाएगा। यहां तक की वहां कि परम्परा के अनुसार अगर शादी ब्याह में निमंत्रण पत्र के साथ सुपारी नहीं दी जाए तो सामने वाला अपना अपमान समझता है।

खैर आप तो जानते हैं सुपारी के बिना पान का कोई महत्व नहीं। पान बनाने में जो सबसे असली चीज लगती है वह सुपारी।  सुपारी की कीमत क्या है वह सुपारी खाने वाले जानते हैं मुखवास में सबसे पहला नाम सुपारी का ही आता है हमारे राजा- महाराजा जिन्होंने भी भारत पर शासन किया सभी पान और सुपारी के दास रहे । फिर सादा पान हो चाहे मीठा पान सुपारी के बिना नहीं बनता इसलिए उत्तरी भारत में भी सुपारी का अपना महत्व है।

वैसे महत्व की बात की जाए तो सुपारी का महत्व हिंदू धर्म शास्त्र में भी बहुत ज्यादा है वैदिक साहित्य में भी सुपारी का व्याख्या है। सुपारी को पूजा पाठ में अवश्य रूप से प्रयोग किया जाता है। यहां पर भी दो तरह की सुपारी है गोल और मोटी सुपारी को जिसे खाने में इस्तेमाल करते हैं वहीं पतली और लंबी सुपारी पूजा में इस्तेमाल की जाती है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हमारी कोई पूजा सुपारी के बिना पूरी नहीं हो सकती। यहां तक की दो पान के पत्ते के ऊपर सुपारी रखकर जनेऊ लगाना गणेश जी और गौरी मां का स्वरूप माना जाता है। सुपारी को मां लक्ष्मी का स्वरूप भी माना जाता है। कई विधि विधान और यज्ञ- हवन में सुपारी को नवग्रह के रूप में भी पूजा जाता है। वैसे सुपारी सिर्फ पूजन में या शौक से खाने में नहीं बल्कि आयुर्वेद में भी इस्तेमाल की जाती है बच्चे के जन्म के बाद जच्चा को सुपारी के लड्डू भी खिलाए जाते हैं। सुपारी को पेट की ,दांतो की कई सारी समस्याओं के लिए औषधि के रूप में काम में लिया जाता है।

तो है ना छोटी सी सुपारी बड़े काम की चीज
खैर!
अंत में एक ज्ञान देती हूं
सुपारी को पूजन में काम में लेने के बाद कभी भी इधर उधर ना फेंके या तो उसे पानी में प्रवाहित कर दें या उसे अलमारी में रखें
हिंदू मान्यताओं के अनुसार सुपारी मां लक्ष्मी का स्वरूप है और पूजन की गई सुपारी को अलमारी में रखने से धन और समृद्धि की वृद्धि होती है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *