September 23, 2019
Home Archive by category Tradition

Tradition

Tradition

जिन्दगी फिसल गई 

जिन्दगी फिसल गई   मुट्ठी में बंद रेत सी जिन्दगी फिसल गई सबको खुश करते- करते ना जाने,कहां चली गई जिन्दगी हमें, हम जिन्दगी को तलाशते रह गए खुद को भूल, बाकी सबको तराशते रह गए वजूद अपना ,अपनों मे यूँ खो गया खुद को ढूंढ रहे हैं अब पता  खो गया जीना है  अब अपने साथ अपने भी लिए […]
Tradition

Peaceful Night Life of Udaipur

मंदिर की घंटियाँ बजती हैं तो कैसा लगता है ? एक अलग किस्म का सुकून मिलता है ना ? एक ऐसा एहसास जिससे तन-मन में सिहरन दौड़ जाती है और सब कुछ हल्का-हल्का लगता है, सारे तनाव गायब हो जाते हैं | जब फतहसागर ओर पिछोला के किनारे ठंडी हवा की बयार बहती है तो […]
Tradition

“गणगौर” अर्थात ‘गण’ यानि ‘शिव’ और ‘गौर’ यानि ‘पार्वती’ |

राजस्थान में मनाया जाने वाला पर्व गणगौर बहुत ही मनभावन और रंग बिरंगा पर्व है | इस पर्व को महिलाएं बहुत ही उत्साह से मनाती हैं | यह पर्व विशेष रूप से सुन्दर वैवाहिक जीवन की कामना को लेकर मनाया जाता है | इस पर्व को राजस्थान से अन्य राज्यों में पलायन कर गए लोग […]
Tradition

33 करोड़ या 33 कोटी – बेहद रोचक जानकारी

अक्सर देवी और देवताओं की संख्‍या 33 करोड़ बताई जाती रही है। धर्मग्रंथों में देवताओं की 33 कोटी बताई गई है। देवभाषा संस्कृत में कोटि के दो अर्थ होते हैं। कोटि का मतलब प्रकार होता है और एक अर्थ करोड़ भी होता। लेकिन यहां कोटि का अर्थ प्रकार है। ग्रंथों को खंगालने के बाद कुल […]
Tradition

Folk Dances of Rajasthan

Rajasthan is the land where heroism and chivalry impersonate in the form of Rajput warriors and their brave queens who had the courage to sacrifice themselves rather than falling into the hands of the invaders. Rajasthan is not only known for its battles and valor stories but also for its beautiful architecture, sand dunes, camels, […]
Tradition

डूंगरपुर का जूना महल

डूंगरपुर का जूना महल एक साथ मंजिला इमारत है जिसकी बनावट किसी किले के समान लगती है | इसकी दीवारों पर कांच का खूबसूरत काम किया हुआ है | रावल वीर सिंह देव ने विक्रम संवत 1939 में कार्तिक शुक्ल एकादशी को इसका निर्माण कार्य प्रारम्भ किया था | इस जगह के महत्व को समझते […]
Tradition

प्रेम की व्याख्या – Rishi Khatri की कलम से

प्रेम के कई मतलब हैं किन्तु प्रेम की व्याख्या क्या है ?? वैसे तो हिंदुत्व मैं प्रेम का कोई शाब्दिक अर्थ नहीं है क्योंकि प्रेम अलौकिक है, प्रेम अनंत है, प्रेम तुच्छ भी है, प्रेम पीड़ादायक भी है और प्रेम सुखद भी है.. लकिन छोड़िये आजकल हिंदुत्व की बात तो कोई करता ही नहीं। जो […]
Tradition

मांडणा – Tradition Of Rajasthan

Mandana paintings are wall and floor paintings of Rajasthan and Madhya Pradesh. Mandana are drawn to protect home and hearth, welcome gods into the house and as a mark of celebrations on festive occasions. Village women in the Sawai Madhopur area of Rajasthan possess skill for developing designs of perfect symmetry and accuracy. The art […]
Tradition

भीलों के बारे में कुछ शब्द

ये information ख़ास तौर पर उन youngsters लिए है जिन्होंने भील जाति का सिर्फ नाम सुना है किन्तु उसके विषय में ज्यादा कुछ जानते नहीं हैं | भील जाति मूलतः मेवाड़ की रहने वाली है और यह जाति तीरंदाजी में पारंगत होती है | भील लोग लड़ाके होते हैं और प्राप्त तथ्यों के अनुसार ये […]